Tuesday, April 14, 2009

इतने डे कम थे, जो मेट्रीमोनी डे भी आ गया!

कल देर रात भारत मेट्रीमोनी डॉट कॉम का एक ईमेल मिला। इसमें 14 अप्रेल को मेट्रीमोनी डे के रूप में मानने की जानकारी मिली, कंपनी के सीईओ की ओर से एक ग्रीटिंग कार्ड मिला।
पहली बार सुना इस डे के बारे में। उत्‍सुकता थी तो गूगल पर खोजा, पता चला भारत मेट्रीमोनी ने लोगों को शादी के लिए प्रेरित करने के लिए इस दिन को चुना है। ताकी लोग शादी के बारे में सोचें। कंपनी का कहना है कि आज कि भागदौड की जिंदगी में लोग शादी के बारे में सोचे इसलिए इस दिन का ईजाद किया गया है। इसके लिए बाकायदा कंपनी ने एक वेबसाइट भी बनाई है। मैंने काफी कोशिश की पर कहीं कोई जानकारी नहीं मिली, अगर आपको पता चले तो बताइएगा प्‍लीज।

वैसे अपन बता दें, उनकी मेहनत बेकार चली गई। मैंने इस दिन से पहले ही सोच लिया शादी के बारे में। और मैंने भारत मेट्रीमोनी वालों को भी बता दिया कि टाइमपास के लिए बनाया मेरा मुफ़त आईडी प्‍लीज अब बंद कर दो। मेरी तलाश खत्‍म हो गई। वैसे तो यह बात आम हो गई है कि मेरी सगाई हो चुकी है। हमारे ब्‍लॉगर साथियों ने पोस्‍ट और कार्टून से इस घडी में मेरा खासा उत्‍साहवर्धन किया। वैसे मैं चाहता था कि डेट फिक्‍स हो तो यह खबर सार्वजनिक की जाए, पर साथियों ने पहले ही आप तक पहुंचा दी।
अब जब मैं भी इस श्रेणी में शामिल होने की तैयारी में हूं तो सभी कुंवारे-कुवारियों से अपील है कि भारत मैटीमॉनी के इस अभियान को सीरियसली लें और शादी के बारे में सोचें। ताकी उनके खाते में भी कुछ उपलब्धि दर्ज हो।

10 comments:

अनिल कान्त : said...

वाह भैया ...खुद तो टाइम पास के लिए आईडी बना लिए और अब ऐसे ...खैर आपकी हो रही है ...तो अब कुंवारे लोग कहाँ अच्छे लगेंगे आपको :) :)
आपको होने वाली शादी की शुभकामनाएं

मेरी कलम - मेरी अभिव्यक्ति

आलोक सिंह said...

जी शादी के बारे में हम सोचेगे तो घरवाले जूते मार के घर से बाहर निकाल देंगे .
शादी की अग्रिम शुभकामनाएं

डॉ .अनुराग said...

आपको होने वाली शादी की शुभकामनाएं

Harinath said...

अधिकारिक सूचना के लिए धन्यवाद. थोड़े और चुप रह लेते. कुछ लोगों को थोड़े और दिन की राहत मिली रहती.

परमजीत बाली said...

:)))

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

हम तो ये जानना चाहते थे कि सगाई और शादी के बीच का रोमांस कैसा चल रहा है?

TARUN JAIN said...

bhai sahab uplabdi badiya mile to naa

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

आने वाले समय में साल के 365 दिन डे हुआ करेंगे...फलाना डे,ढिमकाणा डे..

महामंत्री - तस्लीम said...

खुशियों के लिए तो हजार दिन भी कम हैं मेरे दोस्त।
----------
तस्‍लीम
साइंस ब्‍लॉगर्स असोसिएशन

varsha said...

aapko bahut bahut badhai...