Saturday, August 30, 2008

अंग्रेजी गई तेल लेने !


आजकल हिन्दी का बोलबाला है! लगता है मीडिया के बाद अब यह बात विज्ञापन इंडस्ट्री को भी समझ आ गई है! हिंदी ईजी डॉट कॉम के प्रिंट मीडिया में छपे विज्ञापन में साफ लिखा है अंग्रेजी गई तेल लेने! शायद अब कॉपी राइटर्स को भी समझ आ गया कि इंडियंस का दिल जितना है तो बिल्कुल बोलचाल की भाषा अपनानी होगी!
(आज यह अपने आप में नया प्रयोग है! यह ब्लॉग मैंने ट्रेन का इंतजार करते हुए अजमेर के रेलटेल कैफे से लिखा है।)

4 comments:

अनुनाद सिंह said...

अब बहुत हो गया; अंग्रेजी की ऐसी की तैसी करनी ही होगी। अब आत्मविश्वास दिखाना ही पड़ेगा। कब तक सारा देश अंग्रेजी में रोता रहेगा?


इजीगो के हिन्दी साइट के लिये आपका दिया हुआ लिंक काम करता हुआ नहीं लग रहा है। निम्नलिखित लिंक ठीक काम कर रही है:

http://www.ezeego1.co.in/live/hindi.do?language=hindi

Harinath said...

विज्ञापन देखा था.अपीलिंग है. पर आज कल आप अपना माल ब्लॉग पर नहीं डाल रहे है. इधर उधर से उठाकर चेंप दे रहे है. ऐसे तो कम नही चलेगा.कुछ करिए लोगों को आप से बड़ी उम्मीद है.

neelima sukhija arora said...

वाकई अंग्रेजी गई तेल लेने, आज बहुत दिनों आपके ब्लाग पर आई

cartoonist ABHISHEK said...

achchha hai..बढ़िया