Sunday, April 27, 2008

वाह भाई शाहरुख


अपन के शाहरुख खान, सारे एडिटर्स से अच्‍छे हैं! 25 अप्रेल को शाहरुख खान ने वो 'चमत्‍कार' कर दिखाया जो अच्‍छे अच्‍छे एडिटर्स भी न कर सके। शाहरुख एक ही दिन में दो समाचार पत्र समूहों के बतौर अतिथि संपादक थे।
उन्‍होंने 25 अप्रेल को दैनिक भास्‍कर समूह के दो अखबारों दिव्‍य भास्‍कर और दैनिक भास्‍कर का संपादन किया और वे समाचार पत्र के आफिस में मौजूद थे। वहीं वे उसी दिन दिल्‍ली के एचटी में मौजूद थे। उन्‍होंने बतौर संपादक एचटी, नई दिल्‍ली के सप्‍लीमेंट एचटी सिटी का संपादन किया।
अपन को दो के चिंतन के बाद भी यह समझ नहीं आया कि एक आदमी एक ही दिन में दो जगह कैसे। वैसे अपन ने गौर से देखा तो शाहरुखजी दैनिक भास्‍कर की प्रति पढ रहे हैं वो इस साल के आमबजट वाले दिन की है।

ईश्‍वर सबको शाहरुख जैसा संपादकीय हुनर दे, वैसे अपन ने दोनों अखबार देखे, खूबसूरत भी थे और कुछ नए स्‍टोरी आइडिया भी।

1 comment:

ramesh said...

गुरु खूब पकड़ा है. लेकिन यह तो भास्कर की पुरानी परम्परा रही है. खाशकर सिटी भास्कर की. उन्हें मुबई का फोटो और जालंधर की खबरों को जयपुर का बता के छापने की आदत पड़ चुकी है. अब रहा शाहरुख की एडिटिंग का तो उन्हें तो मैच से फुरसत नही है वे क्या भास्कर पढेंगे. फोटो तो पुरानी थी पर ख़बर तो नई है न.