Tuesday, March 25, 2008

क्‍या जन गण मन 52 सैकंड से ज्‍यादा हो सकता है


राकेश रोशन ने पागलपन के शिकार चार लोगों की कहानी पर क्रेजी 4 बनाई है। फिल्‍म में जन गण मन भी फिल्‍माया गया है। स्‍टोरी में क्‍या है यह तो अपन को पता नहीं पर अपन ने इसका म्‍यूजिक सुना है। इसमें राष्‍टगान जन गण मन है। अपन को पता है कि राष्‍टगान सिर्फ 52 सेकंड का होना चाहिए। पर इस फिल्‍म में राष्‍टगान करीब 1 मिनट और 28 सैकंड का है।
क्‍या कोई इस पर ध्‍यान देगा। क्‍या कोई सजा है इसके लिए, वैसे इस बारे में कानून के जानकार हमारे दोस्‍त ही कुछ कह पाएंगे। पर अपन के मन में यह सवाल उठा इसलिए आप सभी से राय मांग ली। वैसे जब सबको पता है तो राष्‍टगान 52 सैकंड की जगह 1: 28 सैकंड में क्‍यूं पूरा किया गया, यह समझ के परे है। राजेश रोशन के संगीत पर इसे आवाज दी है अंकिता सचदेव ने।
वैसे भारत बाला प्रोडक्‍शन के जनगणमन वीडियो में तो यह करीब दो मिनट का था। इस पर भी गौर करिए।

4 comments:

Fenrisar said...

See please here

mahashakti said...

हर फिल्‍म को विवादों में लाने की अपेक्षा सार्थकता देखनी चाहिऐ, करीब 2 साल पहले हिन्‍दी ब्‍लाग पर राष्‍ट्रगान पर मेरी अच्‍छी बहस हुई थी। सभी ने अपने अपने मत रखे थे, राष्‍ट्रगान 52 सेकेंड में गाने का नियम है, न कि कानून।

manglam said...

समझदार लोगों की यही खासियत होती है कि जो भी काम करते हैं, पूरी शिद्दत के साथ करते हैं, महज करने भर के लिए नहीं। इस गंभीर मुद्दे पर लोगों का ध्यान खींचने के लिए आप साधुवाद के पात्र हैं।

vineeta said...

अरे भाई पहचाना, तू भी न पागल ही रहेगा. अब तो ब्लॉग लिखने लगा है. लेकिन याद है मैं कौन हूँ. याद करके बता. अगर मेरा ब्लॉग देख लिया तो पहचान जाएगा. अरे विनीता हूँ यार. मैंने भी अपना ब्लॉग शरू किया है. तू भी जरा उसे पोपुलर बना. मेल शैल कर लिया कर कभी.